Home दुनिया आसाराम बापू को जेल में ही कराना होगा इलाज, SC ने खारिज...

आसाराम बापू को जेल में ही कराना होगा इलाज, SC ने खारिज की जमानत याचिका

32
0
Listen to this article

नई दिल्‍ली। सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को आसाराम बापू की अंतरिम जमानत याचिका खारिज कर दी। इस मामले की अगली सुनवाई 21 नवंबर को होगी। आसाराम ने अपने स्वास्थ्य का हवाला देते हुए जमानत याचिका की गुहार लगाई थी। आसाराम की ये ग्यारवीं याचिका थी, जो खारिज हो गई। हालांकि आसाराम को जोधपुर एम्स से इलाज की अनुमति मिल गई है। पहले राजस्थान हाईकोर्ट ने आसाराम की जमानत याचिका ये कहते हुए खारिज कर दी थी कि ये मामला अब निष्कर्ष तक पहुंचने वाला है और ऐसे में जमानत देना उचित नहीं है। इससे पहले सितंबर माह में सुप्रीम कोर्ट ने ही आसाराम को राहत देने से इंकार कर दिया था।Asaram
सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि मामले में एम्स की मेडिकल जांच रिपोर्ट के बाद ही सुनवाई पर विचार किया जाएगा। जस्टिस ए के सिकरी की बैंच ने कहा, जब तक एम्स में आसाराम की मेडिकल जांच नहीं होती और उसकी रिपोर्ट अदालत के समक्ष नहीं रखी जाती, तब तक जमानत पर विचार नहीं किया जा सकता है। यह मामला अहमदाबाद में दो बहनों के रेप से जुड़ा है। सुप्रीम कोर्ट ने आसाराम के स्वास्थ्य की स्थिति जांचने के लिए एम्स को मेडिकल बोर्ड गठित करने को कहा था। एम्स से 10 दिन में रिपोर्ट सौंपने को कहा गया था। एम्स ने आसाराम की स्वास्थ्य जांच के लिए दिल्ली से मेडिकल टीम जोधपुर भेजने में असमर्थता जताई थी। एम्स ने सुप्रीम कोर्ट में कहा कि 7 डॉक्टर्स की टीम का एक पैनल बनाया गया है और आसाराम की जांच के लिए सभी को जोधपुर नहीं भेजा जा सकता क्योंकि इससे अस्पताल का काम प्रभावित होगा। बीते 29 अगस्त को एम्स के वकील की दलील से संतुष्ट जस्टिस सिकरी की अध्यक्षता वाली बैंच ने आसाराम को जोधपुर जेल से दिल्ली लाकर एम्स में ही जांच का आदेश दिया था। आसाराम और उसके बेटे नारायण साई पर दो बहनों से दुष्कर्म का आरोप है। आसाराम ने स्वास्थ्य के आधार पर 1 से 2 महीने के लिए अंतरिम जमानत मांगी थी। आसाराम ने कहा था कि वह केरल में पंचकर्म आयुर्वेद उपाचार कराना चाहते हैं। नाबालिग के यौन उत्पीड़न के मामले में आसाराम को पहले भी जमानत नहीं मिली थी। asaram-bapu_650x400_41463420015

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here