Home दिल्ली आतिशबाजी से दिल्ली की हवा में घुला जहर, 42 गुना तक बढ़ा...

आतिशबाजी से दिल्ली की हवा में घुला जहर, 42 गुना तक बढ़ा प्रदूषण का स्तर

39
0
Listen to this article

नई दिल्ली (जेएनएन)। देश के साथ-साथ दिल्ली-एनसीआर में भी धूमधाम से दीपावली मनाई गई। पूर्व की तरह इस बार भी दिल्ली में जमकर पटाखे फोड़े गए। दिल्ली एनसीआर में कुछ ज्यादा ही आतिशबाजी हुई है। दिल्ली में प्रदूषण का स्तर सामान्य स्तर से कई 42 गुना तक बढ़ा हुआ रिकॉर्ड किया गया। दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के एक आंकड़े के मुताबिक दक्षिण दिल्ली के आरके पुरम इलाके में प्रदूषित पीएम (पर्टिकुलर मैटर्स) 10 की मात्रा 42 गुना अधिक दर्ज की गई। बढे हुए प्रदुषण की वजह से लोगों का सांस लेना दुश्वार हो गया है। वहीं, आज सुबह से पूरे एनसीआर में धूल का गुबार छाया हुआ है। दिल्ली में प्रदूषण के स्तर के खतरनाक होने की स्थिति में ये सेहत के लिए बेहद की खतरनाक है। वहीं आज सुबह घर से मॉर्निंग वॉक के लिए निकले लोगों को सांस लेने में परेशानी देखी गई।
दिल्ली में रविवार रात दिवाली के अवसर पर जमकर आतिशबाजी की गई जिसके चलते प्रदूषण का स्तर कई गुना तक बढ़ गया। दिल्ली में प्रदूषण का स्तर सामान्य स्तर से कई 42 गुना तक बढ़ा हुआ रिकॉर्ड किया गया। दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के एक आंकड़े के मुताबिक दक्षिण दिल्ली के आरके पुरम इलाके में प्रदूषित पीएम (पर्टिकुलर मैटर्स) 10 की मात्रा 42 गुना अधिक दर्ज की गई। बढे हुए प्रदुषण की वजह से लोगों का सांस लेना दुबार हो गया है। अग्निशमन विभाग के अनुसार पटाखों से आग लगाने के कुल 100 मामले सामने आये जिसमे किसी के हताहत होने की मामला सामने नहीं आया। दिल्ली प्रदूषण कंट्रोल कमेटी के आंकड़ों के अनुसार अक्तूबर की तुलना में सितम्बर महीने में हवा में मौजूद पीएम 2.5 की मात्रा दो गुना तक बढ़ चुकी है। सेंटर फॉर साइंस एंड इनवायरमेंट की रिपोर्ट के अनुसार सितम्बर महीने में 23 प्रतिशत दिनों में हवा में प्रदूषण का स्तर खराब स्तर तक व 13 प्रतिशत दिनों में बेहद खराब स्तर तक बढ़ चुका था। जबकि अक्तूबर में 27 प्रतिशत दिनों में प्रदूषण का स्तर खराब स्तर तक दर्ज किया गया। वहीँ 57.7 प्रतिशत दिनों में प्रदूषण का स्तर बेहद खराब स्तर तक दर्ज किया गया।download (1)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here