Home देश-दुनिया आपातकाल पर पुनर्विचार होता रहना चाहिए: मोदी

आपातकाल पर पुनर्विचार होता रहना चाहिए: मोदी

47
0
Listen to this article

जमशेदपुर. ग्रामीण पत्रकारिता के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए शहर की बेटी अर्चना शुक्ला को बुधवार शाम नई दिल्ली में प्रतिष्ठित रामनाथ गोयनका अवॉर्ड से सम्मानित किया गया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पत्रकारिता की विभिन्न विधाओं में बेहतर काम करने वाले देशभर के 37 पत्रकारों को सम्मानित किया। जुगसलाई की अर्चना को बिजनेस एंड इकोनॉमिक्स श्रेणी में अवॉर्ड दिया गया है।
बिजनेस चैनल सीएनबीसी आवाज में असिस्टेंट एडिटर (रुरल अफेयर्स) अर्चना को यह अवॉर्ड बुंदेलखंड में सूखे की ग्राउंड रिपोर्टिंग करने के साथ ही मराठवाड़ा में किसानों द्वारा आत्महत्या और केन्द्रीय बजट में ग्रामीण भारत की तस्वीर को दिखाने के लिए दिया गया है। पुरस्कार पाने के बाद अर्चना ने कहा- यह अवॉर्ड महानगरों की ग्लैमरस रिपोर्टिंग के बीच रुरल रिपोर्टिंग करने की प्रेरणा देता है। प्रधानमंत्री के हाथों यह प्रतिष्ठित पुरस्कार पाना किसी सपने के सच होने जैसा था। पुरस्कार के रूप में अर्चना को एक लाख रुपए के साथ ट्रॉफी मिली है।
अर्चना को इसके पहले एक्सचेंज फॉर मीडिया न्यूज ब्रॉडकास्ट अवॉर्ड भी मिल चुका है। शहर के नरभेराम हंसराज और सेक्रेड हॉर्ट कॉन्वेंट स्कूल की छात्रा रही अर्चना का पत्रकारिता में दस साल का अनुभव है। 32 वर्षीय अर्चना ने अपने कॅरियर की शुरुआत एनडीटीवी से की थी
_92234437_e6109bc5-4f29-4bef-b58f-2abf8d59e323

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here