Home दिल्ली नहीं रहे बापू के पौत्र कनु रामदास गांधी, लंबे समय से थे...

नहीं रहे बापू के पौत्र कनु रामदास गांधी, लंबे समय से थे बीमार

33
0
Listen to this article

सूरत, महात्मा गांधी के पौत्र कनुभाई गांधी का आज यहां एक निजी अस्पताल में निधन हो गया जहां उन्हें करीब दो सप्ताह पहले दिल का दौरा पड़ने के बाद भर्ती कराया गया था। वह 87 साल के थे ं महात्मा गांधी के तीसरे पुत्र रामदास गांधी के बेटे कनुभाई अपनी पत्नी शिवलक्ष्मी के साथ यहां पिछले तीन महीने से पंजाबी समाज द्वारा संचालित राधाकृष्ण मंदिर में रह रहे थे। उन्हें दिल का दौरा पड़ने के बाद 22 अक्तूबर को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उन्हें पक्षाघात भी आया था।
पूर्व नासा वैज्ञानिक कनुभाई के करीबी दोस्त धीमांत बधिया ने कहा, ‘‘कनुभाई का सूरत के एक अस्पताल में आज रात 8:30 बजे निधन हो गया।’’
तीन साल पहले अमेरिका से भारत लौटे
फिलहाल कनुभाई की एक बहन जो बेंगलुरु में रहती हैं, उनकी तबीयत खराब होने पर सूरत आई हुई हैं. कनुभाई सूरत के पार्ले प्वाइंट पर राधाकृष्ण मंदिर के संतनिवास में रह रहे थे. कनुभाई तीन साल पहले अमेरिका से भारत लौट आए थे. कनुभाई शुरुआत में दिल्ली, वर्धा, नागपुर के बाद मरोली गांधी आश्रम में रहे थे. इसके बाद वो सूरत के एक वृद्धाश्रम में भी कुछ महीना रहे, लेकिन फिर दिल्ली चले गए.
गरीबी, बदहालीः
कनु दंपती के पास अपना कोई घर तक नहीं था। वह आश्रमों, धर्मशालाओं में आश्रय ढूंढ़ते रहे। राधास्वामी मंदिर के प्रबंधकों ने उन्हें अस्पताल में दाखिल करवाया था। 08_1478159656
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्रवीट कर कनुभाईके निधन पर दुख जताया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here