Home दिल्ली परमाणु हमले पर पर्रिकर ने दिया यह बयान-हमला करने से पीछे न...

परमाणु हमले पर पर्रिकर ने दिया यह बयान-हमला करने से पीछे न हटे

72
0
Listen to this article

नई दिल्‍ली: पिछले एक दशक में पड़ोसी पाकिस्‍तान के साथ सबसे खराब रिश्‍तों के मौजूदा दौर के बीच रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने गुरुवार को कहा कि वह निजी तौर पर मानते हैं कि भारत को परमाणु हथियारों के पहले इस्‍तेमाल नहीं करने संबंधी नीति से अपने को नहीं ‘बांधना’ चाहिए. बाद में इस संबंध में रक्षा मंत्रालय के प्रवक्‍ता ने कहा कि इसको रक्षा मंत्री की आधिकारिक पोजीशन के बजाय निजी राय के रूप में देखा जाना चाहिए. उल्‍लेखनीय है कि रक्षा मंत्री ने एक बुक रिलीज कार्यक्रम के दौरान यह बात कही. दरअसल सैद्धांतिक रूप से भारत संघर्ष होने की स्थिति में पहले परमाणु हथियारों के इस्‍तेमाल नहीं करने की बात कहता रहा है. पाकिस्‍तान ने इस तरह की कोई बात नहीं कही है.
रक्षा मंत्री मनोहर परिकर ने परमाणु हथियारों के इस्तेमाल पर भारत की नीति बदलने की वकालत है। उन्होंने हैरानी जताई कि हम अभी तक ‘परमाणु हथियारों का पहले इस्तेमाल नहीं’ करने की नीति से ही बंधे हुए हैं जबकि इसके बजाय हम यह कह सकते हैं कि ‘हम एक जिम्मेदार परमाणु शक्ति हैं और इसका गैर-जिम्मेदाराना इस्तेमाल नहीं करेंगे।’ हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि यह उनकी निजी राय है। एक सवाल के जवाब में अनिश्चित युद्ध नीति के विश्लेषण के दौरान उन्होंने कहा कि मैं (भारत) खुद को क्यों बांध लूं। भारत को यह कहना चाहिए कि हम जिम्मेदार एटमी ताकत हैं और गैर-जिम्मेदार तरीके से एटमी हथियार का इस्तेमाल नहीं करेंगे। गौरतलब कि 1998 के परमाणु परीक्षणों के बाद भारत ने पहले एटमी हमला करने न करने की अपनी नीति घोषित की थी। उन्होंने मीडिया को आड़े हाथ लेते हुए कहा, ‘मैं ऐसा क ह रहा हूं। लेकिन मीडिया लिखेगा कि परमाणु नीति बदल गई है। सच्चाई यह है कि देश की परमाणु नीति नहीं बदली है। मैंने जो कहा, वह मेरा निजी विचार है।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here