Home अर्थव्यवस्था प्री-वाइब्रेंट समिट में हर्ष संघवी ने कहा, ‘व्यापारियों का समय मंत्रियों से...

प्री-वाइब्रेंट समिट में हर्ष संघवी ने कहा, ‘व्यापारियों का समय मंत्रियों से ज्यादा कीमती

68
0

उद्योग मंत्री हर्ष संघवी ने विभाग को गलत तरीके से व्यापारियों का समय बर्बाद न करने का सुझाव दिया

सूरत के सरसाना कन्वेंशन सेंटर में राज्य सरकार के प्री-वाइब्रेंट समिट को संबोधित करते हुए राज्य के उद्योग मंत्री हर्ष संघवी ने कहा, “मैं अपने विभाग के लोगों को सुझाव देना चाहता हूं कि व्यापारियों का समय कीमती है। व्यापारियों का समय मंत्रियों से अधिक मूल्यवान है। मंच पर स्वागत के लिए समय बर्बाद नहीं करना चाहिए। जब भी कोई व्यापारी गुजरात में व्यापार करने आता है तो यह हमारे लिए सौभाग्य की बात होती है। गुजरात के हर कोने में समाज के हर वर्ग के लोगों को अपने व्यवसाय, रोजगार और जीवन के सपने को साकार करने के साथ-साथ दुनिया में व्यापार करने में सक्षम बनाने के लिए प्री-वाइब्रेंट समिट की शुरुआत की गई है।

विश्व के वैश्विक स्वरूप में गुजरात एक महत्वपूर्ण पहलू है। वाइब्रेंट गुजरात सफलता के 20 साल का जश्न मनाने आया है। 20 साल की इस यात्रा ने गुजरात के लोगों का जीवन बदल दिया है। सामान्यतः यदि अन्य उद्योग लाये जायें तो इसमें बड़े पैमाने पर रोजगार पैदा होंगे। हम इसे गंभीरता से ले रहे हैं। गुजरात वस्त्रों से परिपूर्ण है। गारमेंट सेक्टर के लिए आने वाले समय में गुजरात सबसे आगे चल रहा है। सभी नेताओं से मुलाकात और चर्चा के बाद विकास पर विचार चल रहा है।

उद्योग मंत्री हर्ष संघवी ने कहा कि मैं सभी लोगों से सीखना चाहता हूं। गुजरात सरकार खुले विचारों वालीआपके नए विचारों वाली सरकार है। यदि आपको छोटे या बड़े संस्करणों की आवश्यकता है, तो हमारा ध्यान आकर्षित करें। गुजरात में 10 जनवरी 2024 से वाइब्रेंट गुजरात शुरू होने जा रहा है। जिसमें मैं सभी व्यापारियों को शामिल होने के लिए आमंत्रित करता हूं। व्यापारियों के लिए यह एक सुनहरा अवसर है। नवसारी में पीएम मित्रा पार्क शुरू होने जा रहा है, जिसके लिए एक बड़ा सुनहरा अवसर है। जहां बंदरगाह और हवाई अड्डा काफी नजदीक होंगे, जिससे लॉजिस्टिक शुल्क बहुत कम होगा।

यहां निवेश के लाभ अच्छे हैं, यहां के व्यापारियों के लिए यह एक अच्छा अनुभव है। गुजरात में गुजरातियों की एक परंपरा रही है, जहां चेक तो वापस आ जाता है, लेकिन हमारी बोली हुई बात वापस नहीं आती। ऐसे लोग अलग-अलग जिलों से आकर यहां रह रहे हैं। गुजरात के लोग कड़ी मेहनत कर रहे हैं। लालच भरी बातों में न आएं कारोबारी। हर्ष संघवी ने कारोबारियों को गुजरात में निवेश के लिए आमंत्रित किया। मुझे उम्मीद है कि व्यापारी भी अवाना को गुजरात में निवेश करेंगे।

केंद्रीय मंत्री दर्शना जरदोश ने कहा कि सभी व्यापारियों का स्वागत है। आज शुभ दिन है. सभी के लिए एक सुझाव यदि आप सूरत में हैं तो कृपया सूरती भाषा से शुरुआत करें। मंत्री बनने से पहले और मंत्री बनने के बाद भी जनता ने बहुत कुछ सिखाया है. भारत टैक्स का पहला आयोजन जनवरी में भारत टैक्स होगा। वाइब्रेंट की शुरुआत पीएम ने की है. गुजरात एक रोल मॉडल रहा है. कपड़ा क्षेत्र की सभी योजनाओं में सूरत आगे रहा है। सूरत में लोगों ने वो बिजनेस करके सूरत को मिनी इंडिया बना दिया है. सूरत में 84 देशों ने कारोबार किया है जिनके झंडे यहां हैं. सूरत और गुजरातियों के व्यापार का ठिकाना सूरत का किला देखकर पता चल जाएगा। पीएम का सात पीएम पार्क का सपना रंग लाएगा, सीसीआई से लोगों को फायदा होगा।

वैश्विक बाजार में आगे बढ़ने के लिए तीन नीतियां हैं। विश्व में तकनीकी कपड़ा उद्योग के तेजी से उभरते शहर सूरत पर भी फोकस किया जाएगा। रेडीमेड गारमेंट के लिए बिजली नीति गुजरात में विभिन्न नीतियां हैं। बिजली नीति, श्रम नीति और कपड़ा नीति होगी। नये लोगों को हथकरघा में आगे बढ़ना है। कृषि के बाद कपड़ा सबसे बड़ा क्षेत्र है।

रेशम का उत्पादन पीएम की सोच से आगे निकल गया है. गुजरात में भी अब रेशम का उत्पादन आने वाले दिनों में निर्यात विपणन और पैकेजिंग के लिए किया जाएगा। देश की प्रगति के लिए टेक्सटाइल सेक्टर बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। पीएम मोदी का स्किल पूल हर सेक्टर में आगे बढ़ने की तैयारी कर चुका है. आगे बढ़ने के लिए बेबी डायपर, स्पोर्ट्स वियर विभिन्न प्रकार के उत्पादन। G20 का सफलता मंत्र सबसे छोटे लोगों की कड़ी मेहनत और रचनात्मकता है। जनवरी से पहले और फरवरी में सरकार टेक्सटाइल सेक्टर के लिए कुछ तैयारियों के साथ आगे बढ़ेगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here