Home गुजरात सूरत सिविल में फिटनेस सर्टिफिकेट लेने के लिए लाइन में लगे लोग,...

सूरत सिविल में फिटनेस सर्टिफिकेट लेने के लिए लाइन में लगे लोग, इस बार यात्रा की अवधि 60 की बजाय 45 दिन रखी गई, श्रद्धालु इन दस्तावेजों को अपने साथ लाए

30
0

29 जून से बर्फीला बाबा अमरनाथ की यात्रा शुरू हो रही है, जो 19 अगस्त तक चलेगी. इस बार लोकसभा चुनाव के कारण यात्रा अवधि 60 दिन की जगह 45 दिन रखी गई है। यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए फिटनेस सर्टिफिकेट अनिवार्य है । नए सिविल में मेडिकल सर्टिफिकेट जारी करने की प्रक्रिया आज से शुरू हो गई है, जो पुराने ट्रॉमा सेंटर के ग्राउंड फ्लोर पर 9 से 12 घंटे तक चलेगी । आज पहला दिन है इसलिए बड़ी संख्या में लोग फिटनेस सर्टिफिकेट लेने पहुंचे थे। हालाँकि, कल रविवार की छुट्टी है और बाद में यह कार्रवाई सोमवार से शुक्रवार तक सामान्य रूप से जारी रहेगी ।

इस बार अमरनाथ यात्रा के लिए रजिस्ट्रेशन सोमवार 15 अप्रैल से शुरू हो रहा है, उसी दिन से चारधाम यात्रा के लिए भी रजिस्ट्रेशन शुरू हो जाएगा । हालांकि, अमरनाथ यात्रा के लिए मेडिकल फिटनेस सर्टिफिकेट अनिवार्य कर दिया गया है। इसके साथ ही श्रद्धालुओं को सरकार की गाइडलाइन का पालन करना होगा । स्थानीय अधिकारियों के मुताबिक, चारधाम यात्रा के लिए यात्रियों को किसी भी तरह के मेडिकल फिटनेस सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं है।

यात्रियों को 4 पासपोर्ट साइज फोटो, आधार कार्ड, पैन कार्ड, वोटिंग कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, कोई एक फोटो, आईडी प्रूफ (मूल और ज़ेरॉक्स दोनों) और स्वास्थ्य प्रमाण पत्र फॉर्म की दो कॉपी लानी होंगी।

नियम अनुसार 13 वर्ष से कम उम्र के बच्चों, 75 वर्ष से अधिक उम्र के वरिष्ठ नागरिकों, गर्भवती महिलाओं और बाईपास सर्जरी या स्टेंटिंग से गुजर रहे हृदय रोगियों को मेडिकल फिटनेस प्रमाणपत्र जारी नहीं किया जाएगा। सिविल अस्पताल के आरएमओ केतन नायक ने बताया कि अमरनाथ यात्रा पर जाने के लिए फिटनेस के नियम साइनबोर्ड के जरिए तय किए गए हैं, इसका प्रारूप भी साइनबोर्ड के जरिए दिया गया है और उसके मुताबिक जो भी सुविधाएं जांची जानी हैं, इन सभी की सुविधा सिविल अस्पताल में एक ही छत के नीचे दी गई है।

एक दिन में 500 टोकन दिए जाएंगे। आज सुबह से टोकन वितरण शुरू कर दिया गया है, अब तक 400 टोकन वितरित किये जा चुके हैं। लंबी कतारों से बचने के लिए इस बार न्यू सिविल में भी टोकन सिस्टम रखा गया है। यहां बता दें कि हर बार सूरत समेत दक्षिण गुजरात से हजारों की संख्या में श्रद्धालु अमरनाथ दर्शन के लिए जाते हैं।

आगे बताया कि यहां 6 चिकित्सा पदाधिकारी, दो चिकित्सक, प्रयोगशाला, ईसीजी, एक्स-रे समेत सुविधाएं रखी गयी हैं। ताकि लोगों को अलग-अलग ओपीडी में न जाना पड़े और एक ही जगह पर आसानी से फिटनेस हो सके। यहां से आमतौर पर करीब 5 हजार सर्टिफिकेट जारी होते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here