Home कर्नाटक जिस होटल में ठहरे हैं बागी विधायक उसके बाहर कांग्रेस ...

जिस होटल में ठहरे हैं बागी विधायक उसके बाहर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया

158
0
Listen to this article

मुंबई (ईएमएस)। कर्नाटक में जारी सियासी संकट के बीच कांग्रेस और जनता दल (एस) के बागी विधायकों को मुंबई के जिस सॉफिटेल होटल में ठहराया गया है उसके बहार हाथों में बैनर-तख्ती लिए कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी और प्रदर्शन किया।
ज्ञात रहे कि 13 महीने पुराणी कर्नाटक की कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन सरकार पर संकट मडरा रहा है। शनिवार को गठबंधन के 13 विधायकों के इस्तीफे के बाद कांग्रेस और जेडीएस नेतृत्व असंतुष्टों को मनाने में जुटा है ।
इन इस्तीफों के बाद 224 सदस्यीय विधानसभा में विधायकों की संख्या 210 हो गई है। कांग्रेस-जेडीएस के पास 105 एमएलए हैं, जबकि भाजपा के पास भी 105 विधायकों का समर्थन है। हाल यह है कि मुंबई के जिस सॉफिटेल होटल में बागी विधायक ठहरे हैं, वहां भाजपा और कांग्रेस के कई नेता उन्हें लुभाने के लिए पहुंच रहे हैं। महाराष्ट्र भाजपा के उपाध्यक्ष और एमएलसी प्रसाद लाड ने असंतुष्ट विधायकों से होटल पहुंचकर मुलाकात की है।
इस बीच कांग्रेस नेता महेंद्र सिंह सिंघी भी रविवार सुबह मुंबई के सॉफिटेल होटल पहुंचे और बागी विधायकों से मुलाकात की। मीटिंग के बाद बाहर आए सिंघी ने कहा कि उन्होंने सिर्फ रमेश जरकिहोली से ही मुलाकात की है और किसी विधायक से बात नहीं की। हालांकि उन्होंने इस पर कुछ भी विस्तार से बताने से इनकार कर दिया।
कांग्रेस के संकटमोचक कहे जाने वाले डीके शिवकुमार ने पूर्व पीएम और जेडीएस के नेता एचडी देवेगौड़ा से मुलाकात की है। देवगौड़ा से मीटिंग के बाद डीके शिवकुमार ने कहा ‘हमने और जेडीएस ने अपने नेताओं की मीटिंग बुलाई है। मुझे विश्वास है कि पूरा मसला जल्द ही हल हो जाएगा। देश और दोनों दलों के हित में सरकार चलना जरूरी है। मुझे भरोसा है कि विधायक लौट आएंगे।’ हालांकि कांग्रेस-जेडीएस को इन कोशिशों में सफलता मिलती नहीं दिख रही है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कांग्रेस विधायक प्रताप गौड़ा ने कहा है कि वह भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ेंगे। 5 से 6 विधायकों के सोमवार को इस्तीफा देने की अटकलें हैं। यदि ऐसा होता है तो कांग्रेस-जेडीएस अल्पमत में चले जाएंगे और भाजपा सबसे ज्यादा सीटों वाली पार्टी होगी।
पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता एम. सिद्धारमैया ने प्रदेश के राजनीतिक हालात के लिए भाजपा को जिम्मेदार ठहराया है। सिद्धारमैया ने कहा ‘पूरे घटनाक्रम से स्पष्ट है कि इसके पीछे भाजपा का हाथ है। यह ऑपरेशन कमल है। सब कुछ सही है, कोई चिंता न करें। सरकार के समक्ष कोई खतरा नहीं है और यह बची रहेगी।’
उधर भाजपा ने उन पर ही सरकार को अस्थिर करने की कोशिशों का आरोप लगाया है। केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा, ‘कांग्रेस पार्टी एचडी कुमारस्वामी की सरकार को बाहर करने की कोशिश में है। यह कांग्रेस का गेमप्लान है कि एचडी देवगौड़ा और उनके परिवार को सत्ता से बाहर किया जाए। इसके लिए सिद्धारमैया जिम्मेदार हैं और कई अन्य सीनियर कांग्रेस भी इसमें शामिल हैं।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here