Home उत्तर प्रदेश पांच अभियंता समेत सात निलंबित, चीफ इंजीनियर भी हटे

पांच अभियंता समेत सात निलंबित, चीफ इंजीनियर भी हटे

70
0
Listen to this article

लखनऊ (ईएमएस)। वाराणसी के लोक निर्माण विभाग के मुख्य अभियंता कार्यालय में ठेकेदार द्वारा गोलीमार कर आत्महत्या कर लेने के मामले में प्रमुख सचिव ने पांच इंजीनियर व दो कर्मचारियों को मिलाकर सात को निलम्बित कर दिया। इसके साथ ही वाराणसी के मुख्य अभियंता अम्बिका सिंह पर भी गाज गिर गयी है, उन्हें वाराणसी से हटाकर विभागाध्यक्ष कार्यालय मुख्यालय से अटैच कर दिया गया है। प्रमुख सचिव नितिन रमेश गोकर्ण ने जांच रिपोर्ट मिलने के बाद सख्त रुख अपनाया, आला स्तर से हुई इस कार्रवाई से विभाग में हड़कम्प मचा हुआ है।
विदित हो कि वाराणसी के मुख्य अभियंता कार्यालय में ठेकेदार द्वारा आत्महत्या कर लेने के मामले में लोनिवि के सचिव समीर वर्मा की अध्यक्षता में विभागीय अभियंताओं की भूमिका की जांच के लिए समिति बनायी गयी थी। इस समिति को दो दिनों में अपनी रिपोर्ट देने को कहा गया था। समिति के अध्यक्ष सचिव लोक निर्माण विभाग ने 31 अगस्त को अपनी रिपोर्ट दे दी और सोमवार को उस रिपोर्ट पर उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य से निर्देश लेने के बाद प्रमुख सचिव ने सहायक अभियंता आशुतोष कुमार सिंह, अवर अभियंता मनोज कुमार सिंह व यूएस पाण्डेय, वरिष्ठ सहायक मोनू राम मौर्य व रजत राय को निलम्बित कर दिया गया है। इसके साथ ही खंडीय लेखाधिकारी दद्दन प्रसाद के खिलाफ विभागीय अनुशासनात्मक कार्रवाई के लिए महालेखाकार प्रयागराज को प्रस्ताव भेजा गया है।इसके इतर वाराणसी में भोजूबीर से रिंगरोड़ तक सड़क चैड़ीकरण में अनियमितता के मामले में तत्कालीन अधिकारी अभियंता आरआर गंगवार व सहायक अभियंता सत्यदेव मिश्र को प्रथम दृष्ट्या दोषी पाये जाने पर उनको भी निलम्बित कर दिया गया है। इसके साथ ही प्रशासनिक आधार पर वाराणसी प्रांतीय खंड के मुख्य अभियंता अम्बिका सिंह के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उन्हें भी हटा दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here