Home क्राइम चर्चित मीना सोनी हत्याकाण्ड का हुआ खुलासा चार की गिरफ्तारी

चर्चित मीना सोनी हत्याकाण्ड का हुआ खुलासा चार की गिरफ्तारी

45
0
Listen to this article

झांसी(ईएमएस)। थाना नवाबाद अंतर्गत चर्चित मीना सोनी हत्याकांड का पुलिस ने खुलासा करते हुए मीना सोनी की हत्या के आरोप में चार लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। गौरतलब है कि 5 मई को थाना नवाबाद में मीना सोनी की माता श्यामलता सोनी ने झांसी के बड़े कारोबारी संजय वर्मा के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराते हुए बताया था कि उसकी पुत्री मीना सोनी का अपहरण कर लिया गया है।
इस मामले में पुलिस ने आज खुलासा करते हुए बताया कि पकड़े गये आरोपियों ने मीना सोनी की हत्या जहर पिलाकर दिल्ली में अपोलो हॉस्पिटल के पीछे की गई थी और मीना सोनी की लाश को कालपी की यमुना नदी में फेंक दिया है। झाँसी के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ ओपी सिंह ने बताया कि मीना सोनी की लाश को खोजने के लिए लगातार प्रयास जारी हैं लेकिन नहर में बहाव तेज होने की वजह से आशंका जताई जा रही है कि मीना सोनी की लाश पानी में बहते हुए कहीं दूर निकल गई है। इस मामले में फिलहाल संजय वर्मा हाईकोर्ट से स्टे आडर पर है। एस.एस.पी ने बताया कि स्टेब्रैक्टि कराने की प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है और जल्दी ही संजय वर्मा की गिरफतारी की जायेगी।
वही इस पूरें मामले में अवैध सम्बन्धों को मुख्य वजह माना जा रहा है।पकड़े गए आरोपियों ने अपना नाम जितेंद्र राय उम्र 31वर्ष पुत्र मुरली मुरलीधर राय निवासी शिव परिवार कॉलोनी, झांसी, नरेंद्र उम्र 31 वर्ष पुत्र कृपाराम निवासी राजेंद्र नगर उरई, सर्वेश कुमार राय उम्र 37 वर्ष पुत्र मिथिलेश कुमार राय निवासी बैंर्कस कालोनी, झाँसी, जयनारायण लिटोरिया उम्र 37 वर्ष पुत्र महादेव प्रसाद निवासी काशीराम कॉलोनी, सीपरी बाजार, झाँसी बताया। पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि संजय वर्मा ने मीना सोनी का दिल्ली के अपोलो हॉस्पिटल के पीछे नशे मे धुत हत्या कर दी थी और मीना की लाश कों ठिकाने लगाने के लिये उन सभी लोगों को धोखे से एक पार्सल भेजने के लियें दिल्ली बुलाया गया था। जिसके बाद उस लाश को ठिकाने लगाने के लिए एक कीमत तय की गई और लाश को दिल्ली से कालपी की यमुना नदी में एक इनोवा कार में रखकर ठिकाने लगा दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here