Home उत्तर प्रदेश बलात्कार पीड़िता को न्याय दिलाने के लिये हम संघर्ष करेंगे-प्रियंका गांधी

बलात्कार पीड़िता को न्याय दिलाने के लिये हम संघर्ष करेंगे-प्रियंका गांधी

55
0
Listen to this article

लखनऊ (ईएमएस)। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने पूर्व केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद पर बलात्कार का आरोप लगाने वाली विधि छात्रा को इंसाफ दिलाने के लिये संघर्ष का इरादा जाहिर करते हुए आरोपी पर दुराचार का मुकदमा दर्ज करने की मांग की। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने गांधी जयंती पर बुधवार को राजधानी लखनऊ में गांधी संदेश यात्रा में शिरकत की और भाजपा को बापू के बारे में बात करने से पहले उनके रास्ते पर चलने की नसीहत दी।
प्रियंका गांधी ने शहीद स्मारक से जीपीओ तक बड़ी संख्या में पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ करीब ढाई किलोमीटर की पदयात्रा की और जीपीओ स्थित गांधी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। प्रियंका गांधी को पार्टी प्रदेश कार्यालय पर कार्यकर्ताओं को संबोधित भी करना था लेकिन वह जीपीओ से ही हवाई अड्डे रवाना हो गईं। प्रियंका ने पार्टी द्वारा आयोजित गांधी संदेश यात्रा से इतर संवाददाताओं से कहा कि शाहजहांपुर में बलात्कार पीड़िता के साथ गलत हो रहा है। प्रशासन ने इसके खिलाफ सोमवार को होने वाली कांग्रेस की पदयात्रा रोक दी, मगर हम उसके लिये संघर्ष करेंगे। उन्होंने आरोप लगाया कि देश में महिलाओं के साथ बहुत अत्याचार हो रहा है। खास तौर से उत्तर प्रदेश में बलात्कारियों को बचाया जा रहा है। हमारी मांग है कि शाहजहांपुर में आरोपी पर बलात्कार का मुकदमा दर्ज किया जाए।
उधर, पार्टी के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी ने राज्य मुख्यालय पर कार्यकर्ताओं से कहा कि जिला प्रशासन ने एक साजिश के तहत प्रियंका को दौरे के लिए बहुत कम समय दिया। इसी वजह से वह पार्टी राज्य मुख्यालय नहीं आ सकीं। उन्होंने आरोप लगाया कि जिला प्रशासन ने प्रियंका को 12 से दो बजे तक का ही समय दिया था और उसने पूरी कोशिश की कि प्रियंका डेढ़ बजे तक पार्टी कार्यालय ना पहुंच पाएं। चूंकि उन्हें दिया गया समय खत्म हो गया था इसलिए प्रियंका गांधी ने पार्टी राज्य मुख्यालय पर कार्यकर्ताओं को संबोधित करने का कार्यक्रम रद्द कर दिया।
दूसरी ओर, कांग्रेस के एक अन्य वरिष्ठ नेता पूर्व विधायक अखिलेश प्रताप सिंह ने बताया कि प्रियंका गांधी को काफी तेज बुखार था। इस वजह से उन्होंने अपना दौरे की अवधि कम कर दी और दिल्ली लौट गईं। बुखार होनेे के बावजूद वह पदयात्रा में शामिल हुई यही बड़ी बात है। इसके पूर्व, प्रियंका ने पदयात्रा शुरू करने से पहले संवाददाताओं से संक्षिप्त बातचीत में सत्तारूढ़ भाजपा पर प्रहार करते हुये कहा कि पहले उसे राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के मार्ग पर चलना चाहिये। बाद में उनके बारे में बात करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि भाजपा कुछ भी कर ले मगर सत्य के पथ पर चलना गांधी जी का आदेश था। भाजपा पहले सत्य के पथ पर चले फिर गांधी जी की बात करें। उन्होंने यह भी कहा कि महिलाओं पर अत्याचार हो रहा है, दूसरा जब यह लड़ती हैं, संघर्ष करती है तो इनको दबाया जाता है, अत्याचार किया जाता है। इसके खिलाफ हम जरूर संघर्ष करेंगे।
विदित हो कि कांग्रेस ने चिन्मयानंद पर बलात्कार का आरोप लगाने वाली विधि छात्रा की रंगदारी के इल्जाम में गिरफ्तारी और इस मामले में राज्य सरकार के भेदभावपूर्ण रवैये के खिलाफ सोमवार को शाहजहांपुर से लखनऊ के बीच श्न्याय यात्राश् के नाम से पैदल मार्च निकालने का एलान किया था। मगर पदयात्रा से पहले पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद समेत कई पार्टी नेताओं को नजरबंद कर दिया गया और बड़ी संख्या में पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here