Home उत्तर प्रदेश 3700 प्रवासी श्रमिको को लेकर अलीगढ़ पहुंचीं स्पेशल ट्रेन,रेलवे स्टेषन पर ट्रेन...

3700 प्रवासी श्रमिको को लेकर अलीगढ़ पहुंचीं स्पेशल ट्रेन,रेलवे स्टेषन पर ट्रेन में से आते प्रवासी मजदूर

100
0
Listen to this article

अलीगढ़ (ईएमएस)। ट्रैन से अलीगढ़ पहुँचे प्रवासी श्रमिकों को यूपीएसआरटीसी की बसों द्वारा उनके गृह जनपद पहुंचाया गया। लॉक डाउन-3 के अंतिम दिन गुजरात प्रान्त के जिला मेहसाणा एवं राजकोट से अलीगढ़ जंक्शन पहुंचीं स्पेशल ट्रेन के द्वारा लगभग 3700 प्रवासी श्रमिकों का एक-एक कर सामाजिक दूरी बनाते हुए स्वास्थ्य परीक्षण कराया गया, जाँच के उपरांत सभी प्रवासी श्रमिकों को बसों के माध्यम से उनके गृह जनपद भेजा गया। इस दौरान डीएम, एसएसपी और सीडीओ ने स्टेशन पहुँच कर कार्य मे जुटे अधिकारियों कर्मियों का हौसला बढ़ाया और श्रमिकों को सफलता पूर्वक गंतव्य को भेजने के सम्बंध में आवश्यक निर्देश भी दिए। स्टेशन पर ट्रेन से उतरने के उपरांत प्रत्येक श्रमिक का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया और बैठने के उपरांत बसों में सभी श्रमिकों को भोजन और पानी उपलब्ध कराया गया। प्रवासी श्रमिकों की जाँच के बाद चिकित्सकों और अधिकारियों द्वारा उन सभी को निर्देशित किया गया कि वह भारत सरकार द्वारा जारी गाइडलाइंस का अनुपालन करते हुए अपने-अपने घरों में 14 दिनों तक कोरन्टीन में रहेंगे, ताकि यदि उनको कोई छुपा हुआ संक्रमण हो तो उनके परिवार व सगे सम्बन्धी और गांव वाले संक्रमित न होने पाएं। सभी प्रवासी श्रमिकों को ये भी समझाया गया कि बुखार और सर्दी होने की शिकायत को गम्भीरता से लेते हुए तत्काल अपने जिला प्रशासन और चिकित्सा विभाग के संज्ञान में लाएंगे। सभी प्रवासी श्रमिक जैसे ही स्टेशन पहुँचे उन सभी को पूरे सम्मान के साथ एक एक कर सामाजिक दूरी बनाते हुए उतारा गया। स्पेशल ट्रेन के अलीगढ़ स्टेशन पहुंचने से पूर्व नगर निगम द्वारा स्टेशन परिसर को सेनिटाइज्ड कराया गया।

***3700 प्रवासी श्रमिको को लेकर अलीगढ़ पहुंचीं स्पेशल ट्रेन
**ट्रेन से अलीगढ़ पहुँचे प्रवासी श्रमिकों को यूपीएसआरटीसी की बसों द्वारा उनके गृह जनपद पहुंचाया गया
**रेलवे स्टेशन पर सभी श्रमिकों का हुआ स्वास्थ्य परीक्षण
**डीएम, एसएसपी व सीडीओ ने स्टेशन पहुँच व्यवस्थाओं का लिया जायजा, अधिकारियों को दिए आवश्यक निर्देश

कोविड-19 वायरस महामारी को लेकर पूरा देश लॉक डाउन पर है। प्रवासियों की दिक्कत और विभिन्न प्रकार की परेशानियों को ध्यान में रखते हुये शासन द्वारा कुछ शर्तों के साथ आवागमन में विभिन्न प्रकार की राहत प्रदान की गई हैं और प्रवासी श्रमिकों को उनके अपने घर पर पहुंचाने के लिए विशेष प्रकार की रेलगाड़ियों का संचालन किया गया है, जिससे अन्य प्रदेशो में रोजी रोटी की तलाश में गये मजदूरों को उनके घर पहुँचने का रास्ता खुल गया। अभी हाल ही में गुजरात प्रान्त के ही जिला दाहोद और बड़ोदरा से दो विशेष ट्रैन सैकडों प्रवासी श्रमिकों को लेकर अलीगढ़ पहुँची थीं, जहाँ से सभी की थर्मल स्कैनिंग और चिकित्सकीय जाँच कराते हुए खाना पानी प्रदान कर बसों के जरिए उनको सकुशल उनके अपने घरों के लिए रवाना किया गया था।
रविवार को केंद्र व राज्य के आपसी समन्वय से एक विशेष ट्रैन गुजरात के मेहसाणा से लगभग 1800 एवं राजकोट से लगभग 1900 श्रमिकों को लेकर अलीगढ़ पहुंचीं। ट्रैन के ठहराव के पाँच मिनट बाद प्रवासी श्रमिकों को सोशल डिस्टेनसिंग के साथ ट्रैन से नीचे पूरे सम्मान के साथ उतारा गया, इसके बाद प्लेटफार्म पर उपस्थित कई चिकित्सकों की टीम ने थर्मल स्कैनिंग कर उनका तापमान जांचा और स्वास्थ्य परीक्षण किया। सभी प्रवासियों को खाने के लिए खाने के पैकेट्स और पीने को बोतल में पानी उपलब्ध कराया गया। इसके बाद उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम की बसों में सोशल डिस्टेनसिंग का पालन करते हुए बैठाया गया। सुरक्षा के लिहाज से रेलवे स्टेशन पर पर्याप्त मात्रा में पुलिस फोर्स की भी तैनाती की गई थी। एडीएम सिटी राकेश मालपाणी, एडीएम वित्त विधान जायसवाल और एडीएम प्रशासन ने घूम घूम कर श्रमिकों को आगे भविष्य में भी सोशल डिस्टेनसिंग बनाये रखने, चेहरे को मास्क या गमछे से ढके जाने, बार बार साबुन से हाथ धोने, किसी का भी अभिवादन स्वीकार करते समय 2 गज की दूरी बनाकर हाथ मिलाने के स्थान पर हाथ जोड़कर अभिवादन स्वीकार करने की नसीहत प्रदान की। उन्होंने ये भी बताया कि ग्राम में जाकर वह मनरेगा जॉब कार्ड बनवाकर काम भी प्राप्त कर सकेंगे।
सहायक क्षेत्रीय प्रबंधक रोडवेज लोकेश राजपूत ने बताया कि ट्रैन में अलीगढ़ जिले के आसपास के कई जनपदों के सभी प्रवासी श्रमिकों को सकुशल उनके गृह जनपद में भेजने के लिए परिवहन निगम की बसों को लगाया गया है। यात्रियों को किसी प्रकार के संक्रमण से बचाये रखने के लिए बसों को सेनिटाइज्ड भी कराया गया। बसों को रेलवे स्टेशन परिसर, कठपुला से लेकर मालगोदाम और पुराने बस अड्डे तक क्रमवार लगाया गया और रोडवेज के कार्मिकों और कोरोना वालेंटियर्स की मदद से सही ढंग से जांचोपरांत बैठाया गया।
स्पेशल ट्रेन के आने से लेकर सभी प्रवासी यात्रियों को गन्तव्य के लिए रवाना करने के लिए एडीएम सिटी राकेश मालपाणी, एडीएम वित्त विधान जायसवाल, एडीएम प्रशासन, सीएमओ, एसडीएम कोल, डीआईओएस, बीडीओ, डीएओ, तहसीलदार कोल, चिकित्सकीय टीम के साथ ही विभिन्न विभागों के कर्मियों द्वारा सहयोग प्रदान किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here