Home उत्तर प्रदेश कुशीनगर में मिलती है बिना जांच किए ही कोरोना की रिपोर्ट

कुशीनगर में मिलती है बिना जांच किए ही कोरोना की रिपोर्ट

347
0

कुशीनगर (एजेसी)। उत्तर प्रदेश में कोरोना से संक्रमित लोगो की संख्या जहा प्रतिदिन तेजी से बढ़ रही है। वही प्रदेश में एक ऐसा भी जिला है जो बिना जांच के ही कोरोना संक्रमण का रिपोर्ट दे रहा है ।
इतना ही नही रिपोर्ट आने के बाद प्रशासन आनन फानन में उसके घर के मार्ग को सील कर दिया। स्वास्थ्य विभाग के इस कारनामे से कोरोना को लेकर बरती जा रही संवेदनशीलता की पोल खुल गई है।
यह घटना है उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले की है। जहाँ एक सरकारी कर्मचारी की बिना कोरोना जांच हुए ही पॉजिटिव रिपोर्ट सामने आई है। अचानक जांच में आई इस तेजी के बाद हड़कम्प मच गया।
उक्त मामले में कर्मचारी ने लिखित तौर पर सीएमओ कुशीनगर को प्रार्थना पत्र देकर इस तथ्य से अवगत कराया। जिस पर सीएमओ ने इस मामले की जांच कराने के आदेश दिए हैं।

जानकारी के अनुसार बीते मंगलवार को कोरोना की सामान्य जांच प्रक्रिया के तहत कुशीनगर जिलाधिकारी कार्यालय परिसर में स्थित जिला प्रोबेशन अधिकारी कार्यालय सहित सभी कार्यालयों के कर्मचारियों की कोराना जांच की गई। इसके तहत विभागवार सूची बना कर नमूना संग्रह किया गया। गुरुवार को इस जांच रिपोर्ट के अनुसार कुल आठ लोगों के पॉजिटिव होने की बात सामने आयी। इस बीच जिला प्रोबेशन अधिकारी कार्यालय के कोरोना पॉजिटिव पाए गए कर्मचारी ऋषिराज पाण्डेय ने सीएमओ को लिखित पत्र भेजा और इससे अवगत कराया कि जांच प्रक्रिया के दिन वो अधिकारियों को सूचना देने के लिए बाहर गए थे। ऐसे में जब वो थे ही नहीं, तो उनकी रिपोर्ट कैसे आ गयी। ऐसे में तथाकथित मरीज की आपत्ति के बाद पूरी जांच प्रक्रिया पर सवाल खड़ा हो गया है। रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद प्रशासन ने उसके घर के सामने बांस-बल्ली लगाकर उसका रास्ता भी अवरुद्ध कर दिया। सीएमओ ने पत्र मिलने के बाद मामले की जांच कराने की बात कही है। वही घर का रास्ता अवरुद्ध किए जाने से परिवार के लोगों भी आक्रोशित है।
इस सम्बंध में सीएमओ डॉ. एन पी गुप्ता ने बताया कि मामला संज्ञान में आया है। लिपिकीय त्रुटि के कारण समूह में हो रहे जांच के दौरान गड़बड़ी होना संभावित है। मामले की जांच करायी जा रही है कि गड़बड़ी कहां और कैसे हुई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here