Home महाराष्ट्र मुंबईकरों को याद आई जुलाई 2005 की तूफानी बारिश -महिंद्रा ने शेयर...

मुंबईकरों को याद आई जुलाई 2005 की तूफानी बारिश -महिंद्रा ने शेयर किया हवा में झूलते पेड़ का विडियो

97
0
Listen to this article

मुंबई (एजेसी)। यहां हो रही तूफानी बारिश ने मुंबईकरों को 26 जुलाई 2005 की जलप्रलय याद ताजा कर दी। मुंबई की बारिश के कई विडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। बिजनसमैन आनंद महिंद्रा ने भी हैरान करने वाला विडियो शेयर किया। विडियो में भारी बारिश और तेज हवाओं की वजह से एक ताड़ का पेड़ एक छोर से दूसरे छोर जाता दिखा मानो जैसे झूला झूल रहा है। आनंद महिंद्रा ने वीडियो शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा, ‘कल मुंबई की बारिश के कई वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुए। उनमें से यह सबसे खतरनाक है। हमें यह तय करना होगा कि ताड़ का पेड़ खुशी से तांडव कर रहा है- आंधी का आनंद ले रहा है- या फिर यह प्रकृति अपने गुस्से का इजहार कर रही है।’ इस विडियो पर सोशल मीडिया यूजर्स ने कई मजेदार कॉमेंट भी किए। एक यूजर ने लिखा, ‘मैं कल्पना कर रहा हूं कि मैं पेड़ के ऊपरी हिस्से को पकड़े हुए हूं और उसके साथ झूल रहा हूं।’ आनंद महिंद्रा ने यूजर को रिप्लाइ करते हुए लिखा, ‘मुझे यह एटिट्यूड पसंद आया। आप जैसे लोगों के लिए जीवन हमेशा एक सुखद सवारी रहेगी।’ बता दें कि बारिश के कारण मुंबई में 112 से अधिक पेड़ गिर गए। पेडर रोड इलाके में भूस्खलन और सुरक्षा दीवार गिरन की वजह से यातायात बंद हो गया। बारिश और तेज हवा के कारण गिरे पेड़ों से यातायात बाधित हुआ। बीएमसी कमिश्नर से लेकर आदित्य ठाकरे और सीएम उद्धव ठाकरे ने लोगों से घर पर ही रहने की अपील की। मुंबई में बारिश के साथ हवाओं का रौद्र रूप भी देखने को मिला। हवा की गति इतनी तेज थी कि कई बिल्डिंगों के ऊपर बने टीनशेड और टाइल्स टूटकर नीचे गिए गए। बॉम्बे शेयर बाजार की इमारत पर लगा बोर्ड भी टूट गया। मस्जिद स्टेशन के सामने बिल्डिंग का टीनशेड हवा में उड़कर दूर जा गिरा, हालांकि कोई घायल नहीं हुआ। वानखेड़े स्टेडियम के हाई मास्ट लाइट वाले खंभे भी तेज हवा में हिलते दिखाई दिए। जसलोक अस्पताल के भवन की बाहरी दीवारों पर लगी सीमेंट की टाइलें भी गिर गईं। इससे लोग घरों से बाहर निकलते हुए डर रहे थे। बता दें कि कई दिनों से जारी झमाझम बारिश से राहत न मिलने से मुंबईवासियों की आफत बढ़ गई है। लगातार बारिश के कारण कई इलाकों में सड़कों पर जलजमाव हो गया। कई जगह पेड़ गिरने और इमारत ढहने की घटनाएं भी सामने आईं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here