Home तकनीकि 23 मोबाइल ऐप्स को तुरंत हटाने की सलाह

23 मोबाइल ऐप्स को तुरंत हटाने की सलाह

48
0
23 मोबाइल ऐप्स को तुरंत हटाने की सलाह
Listen to this article

नई दिल्ली (एजेंसी)। ऐंड्रॉयड यूजर्स को एक बार फिर चेतावनी जारी करते हुए 23 मोबाइल ऐप्स को तुरंत हटाने की सलाह दी गई है। ये ऐप्स यूजर्स का धीरे-धीरे अकाउंट खाली कर देते हैं और यूजर्स को पता ही नही चलता है। इस तरह मोबाइल ऐप्स के जरिए यूजर्स को चूना लगाने के मामले लगातार सामने आते रहते हैं।

साइबर सिक्यॉरिटी और सॉफ्टवेयर फर्म सोफोस के शोधकर्ताओं ने इन खतरनाक ऐप्स का खुलासा किया है। रिपोर्ट की मानें तो ये सभी फ्लेसवेयर ऐप्स हैं और इन्होंने गूगल प्ले स्टोर की पॉलिसी का उल्लंघन किया है। रिसर्चर जगदीश चंद्राइहा ने एक ब्लॉगपोस्ट में बताया कि गूगल के नए नियमों को भ्रामक मार्केटिंग डिस्प्ले कॉपी को पकड़ने के लिए तैयार किया गया है।

हालांकि इसमें कुछ खामियां हैं जो कुछ खतरनाक कामों की अनुमति दे देते हैं।बता दें कि फ्लेसवेयर एक प्रकार का मैलवेयर मोबाइल ऐप्लिकेशन है, जो छिपी हुई सब्सक्रिप्शन फीस के साथ आता है। ये ऐप्लिकेशन उन यूजर्स का फायदा उठाते हैं, जो नहीं जानते कि ऐप हटाने के बाद उन्हें सब्सक्रिप्शन किस तरह कैंसिल करना है।

ये ऐप्स यूजर्स को कई तरह से चूना लगाते हैं। ये स्पैम सब्सक्रिप्शन के अलावा यूजर्स को फ्री ट्रायल के नाम पर रिझाते हैं लेकिन यह नहीं बताते कि सब्सक्रिप्शन कब खत्म होगा और उसके बाद कितना चार्ज लिया जाएगा। एक अन्य तरीका टर्म व कंडीशन को कुछ इस तरह प्रदर्शित करना है कि उसे पढ़ना लगभग नामुमकिन हो।

जगदीश ने बताया, ‘आपके एक बार साइन-अप करने से ही ढेर सारे ऐप्स को बिना अनुमति सब्सक्राइब कर दिया जाता है। कई बार यूजर्स को पता भी नहीं होता और सैकड़ों ऐप्स का सब्सक्रिप्शन शुरू हो जाता है।’ सोफोस रिसर्चर्स ने 23 ऐप्स की लिस्ट जारी की है और उन्हें तुरंत मोबाइल से हटाने की सलाह दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here