Home दिल्ली लद्दाख में पैंगॉन्ग झील के दक्षिणी किनारे पर भारत और चीन के...

लद्दाख में पैंगॉन्ग झील के दक्षिणी किनारे पर भारत और चीन के बीच फायरिंग हुई

58
0
लद्दाख में पैंगॉन्ग झील के दक्षिणी किनारे पर भारत और चीन के बीच फायरिंग हुई
Listen to this article

नई दिल्ली (एजेंसी)।चीनी सेना के वेस्टर्न थियेटर कमांड के प्रवक्ता के मुताबिक भारतीय सैनिकों ने 7 सितंबर को पैंगॉन्ग त्सो के दक्षिणी किनारे पर एलएसी पार कर घुसपैठ की कोशिश की है। चीन का ये भी दावा है कि भारतीय सेना ने एलएसी पार करने के बाद हवाई फायर भी किए। जबकि भारत का कहना है कि चीन के सैनिक सीमा पार कर रहे थे, जब रोका गया तो उन्होंने गोली चलाई।पीओके में प्रदर्शनपीओके में एक बार फिर से पाकिस्तान का दमनकारी चेहरा सामने आया है।

नीलम-झेलम नदी पर चीनी कंपनियों द्वारा बनाए जाने वाले मेगा-डैम के निर्माण के खिलाफ सोमवार रात को पीओके के मुजफ्फराबाद शहर में विरोध प्रदर्शन और मशाल रैली निकाली गई। हालांकि यह पहली बार नहीं है जब शहर के नागरिकों ने अपना विरोध जताया हो। इससे पहले 25 अगस्त को भी लोगों ने मेगा-डैम के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया था।

जिनपिंग की चालाकीकोरोना वायरस महामारी के चलते पूरी दुनिया बेहाल है। चीन पर लगातार आरोप लगते रहे हैं कि उसने वायरस से निपटने में प्रभावी रूप से कदम नहीं उठाए और इसे लेकर दुनिया से जानकारी छिपाई। अब चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने कहा कि हमने कोविड-19 के प्रकोप पर एक खुले और पारदर्शी तरीके से काम किया और इसने ठोस प्रयास किए जिससे दुनिया भर में दसियों लाख लोगों को महामारी से बचाने में मदद मिली।

राहत पैकेज का ऐलान जल्दकोरोना संकट के बीच सरकार दोबारा राहत पैकेज का एलान कर सकती है। इसका पूरा फोकस नॉन-सैलरीड मिडिल क्लास और छोटे कारोबारी हो सकते हैं। इससे नौकरी और कारोबार में मदद मिलने का अनुमान है। मीडिया रिपोट्र्स के मुताबिक, सरकार मानती है कि कोरोना महामारी के कारण नॉन-सैलरीड मिडिल क्लास सबसे अधिक प्रभावित हुआ है। इससे पहले केंद्र सरकार ने मई में 20 लाख करोड़ रुपए का आत्म निर्भर पैकेज की घोषणा की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here