Home उत्तर प्रदेश दलित हत्याकांड: पुलिस हिरासत में चार आरोपी

दलित हत्याकांड: पुलिस हिरासत में चार आरोपी

92
0
मैनपुरी:(ई एम एस) शहर के मुहल्ला खरगजीत नगर में हलवाई की पीट कर की गई हत्या के मामले में पुलिस ने चार आरोपितों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। अन्य की तलाश में दबिश दी जा रही है। रविवार शाम सर्वेश कुमार की हमलावरों ने बेरहमी से पिटाई की, जिससे उनकी मौत हो गई। रिपोर्ट भाई कमलेश ने मुहल्ले के साहुल जादौन, शिवाजी, राजन और अन्य अज्ञात के खिलाफ दर्ज कराई थी। पुलिस ने घटना में नामजद साहुल जादौन और शिवाजी को गिरफ्तार करने के साथ ही हृदेश मिश्रा की पहचान कर गिरफ्तार कर लिया है। इसके साथ ही घटना की साजिश रचने वाले मुहल्ले के निवासी डिम्पल को भी गिरफ्तार किया है। सभी आरोपित पुलिस ने मंगलवार शाम जेल भेज दिए। खाता खुलवाने बैंक पहुंची मृतक की पुत्री: समाजवादी पार्टी द्वारा पीड़ित परिवार को एक लाख रुपये की आर्थिक सहायता का चेक प्रदान किया था। सर्वेश की पुत्री हेमा का कोई बैंक खाता नहीं है। मंगलवार को पैतृक गांव मढ़ापुर, सिरसागंज से कोतवाली पहुंची हेमा को पुलिस टीम अपनी निगरानी में बैंक ले गई, जहां उसका खाता खुलवाया गया। दूसरे दिन भी कोलकाता से नहीं आ सका परिवार: सर्वेश की ससुराल कोलकाता में है। कुछ दिन पहले ही उन्होंने अपनी पत्नी और दो पुत्रों को कोलकाता भेज दिया था। सर्वेश के भाई कमलेश ने बताया कि घटना की सूचना सर्वेश की पत्नी को दे दी गई है। ट्रेनें बंद हैं, इसलिए परिवार बस से आ रहे हैं। एक-दो दिन में आने की संभावना है। सर्वेश हत्याकांड को राजनीतिक दलों ने बनाया मुद्दा: जासं, मैनपुरी: मुहल्ला खरगजीत नगर निवासी अनुसूचित जाति के सर्वेश कुमार की हत्या का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। समाजवादी पार्टी के बाद अब कांग्रेस भी घटना को लेकर सक्रिय दिखी। मंगलवार को कांग्रेस के प्रदेश महासचिव प्रकाश प्रधान कार्यकर्ताओं के साथ मृतक हलवाई सर्वेश के खरगजीत नगर आवास पर पहुंचे। घर पर ताला लगा होने के चलते उनसे मुलाकात नहीं हो सकी। उन्होंने बताया कि आरोपितों के खौफ के चलते पीड़ित परिवार अपने गांव चला गया है। उन्होंने कानून व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए कहा कि जिस प्रकार सर्वेश की पीटकर हत्या की गई है, उससे लगता है लोगों में पुलिस का डर खत्म हो गया है। उन्होंने पीड़ित परिवार के लिए 20 लाख रुपये की आर्थिक सहायता के साथ ही मृतक की पुत्री की पढ़ाई का इंतजाम और परिवार की सुरक्षा की मांग सरकार से की है।
Listen to this article

मैनपुरी (एजेंसी)। शहर के मुहल्ला खरगजीत नगर में हलवाई की पीट कर की गई हत्या के मामले में पुलिस ने चार आरोपितों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। अन्य की तलाश में दबिश दी जा रही है।रविवार शाम सर्वेश कुमार की हमलावरों ने बेरहमी से पिटाई की, जिससे उनकी मौत हो गई।

रिपोर्ट भाई कमलेश ने मुहल्ले के साहुल जादौन, शिवाजी, राजन और अन्य अज्ञात के खिलाफ दर्ज कराई थी। पुलिस ने घटना में नामजद साहुल जादौन और शिवाजी को गिरफ्तार करने के साथ ही हृदेश मिश्रा की पहचान कर गिरफ्तार कर लिया है। इसके साथ ही घटना की साजिश रचने वाले मुहल्ले के निवासी डिम्पल को भी गिरफ्तार किया है। सभी आरोपित पुलिस ने मंगलवार शाम जेल भेज दिए।

खाता खुलवाने बैंक पहुंची मृतक की पुत्री: समाजवादी पार्टी द्वारा पीड़ित परिवार को एक लाख रुपये की आर्थिक सहायता का चेक प्रदान किया था। सर्वेश की पुत्री हेमा का कोई बैंक खाता नहीं है। मंगलवार को पैतृक गांव मढ़ापुर, सिरसागंज से कोतवाली पहुंची हेमा को पुलिस टीम अपनी निगरानी में बैंक ले गई, जहां उसका खाता खुलवाया गया।

दूसरे दिन भी कोलकाता से नहीं आ सका परिवार: सर्वेश की ससुराल कोलकाता में है। कुछ दिन पहले ही उन्होंने अपनी पत्नी और दो पुत्रों को कोलकाता भेज दिया था। सर्वेश के भाई कमलेश ने बताया कि घटना की सूचना सर्वेश की पत्नी को दे दी गई है। ट्रेनें बंद हैं, इसलिए परिवार बस से आ रहे हैं। एक-दो दिन में आने की संभावना है।

सर्वेश हत्याकांड को राजनीतिक दलों ने बनाया मुद्दा: जासं, मैनपुरी: मुहल्ला खरगजीत नगर निवासी अनुसूचित जाति के सर्वेश कुमार की हत्या का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। समाजवादी पार्टी के बाद अब कांग्रेस भी घटना को लेकर सक्रिय दिखी।

मंगलवार को कांग्रेस के प्रदेश महासचिव प्रकाश प्रधान कार्यकर्ताओं के साथ मृतक हलवाई सर्वेश के खरगजीत नगर आवास पर पहुंचे। घर पर ताला लगा होने के चलते उनसे मुलाकात नहीं हो सकी। उन्होंने बताया कि आरोपितों के खौफ के चलते पीड़ित परिवार अपने गांव चला गया है।

उन्होंने कानून व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए कहा कि जिस प्रकार सर्वेश की पीटकर हत्या की गई है, उससे लगता है लोगों में पुलिस का डर खत्म हो गया है। उन्होंने पीड़ित परिवार के लिए 20 लाख रुपये की आर्थिक सहायता के साथ ही मृतक की पुत्री की पढ़ाई का इंतजाम और परिवार की सुरक्षा की मांग सरकार से की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here