Home उत्तर प्रदेश कचहरी में वकीलों और फरियादियों के बीच हुए घमासान में क्रॉस एफआईआर...

कचहरी में वकीलों और फरियादियों के बीच हुए घमासान में क्रॉस एफआईआर हुई दर्ज,दोनों के बीच हुई मारपीट का वीडियो सोशल मीडिया पर हुआ था वायरल

14
0
Listen to this article

एफआईआर में कुछ वकीलों पर भी लगे मारपीट करने के आरोप

ललितपुर(एजेंसी) कहा जाता है कि न्याय के मंदिर और न्याय के परिसर में सभी की बात सुनी जाती है और सभी के साथ न्याय होता है, लेकिन जनपद ललितपुर की न्यायालय में पीड़ितों को न्याय दिलाने वाले वकीलों का विवाद किसी बात को लेकर वहां आये फरियादियों के साथ हो गया जिसके बाद दोनों के बीच जमकर घमासान हुआ, जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने से हड़कंप मच गया। स्थानीय कचहरी परिसर में शनिवार की शाम वकीलों व वादकारियों के बीच जमकर मारपीट हो गई। घटना का वीडियो सामने आने के बाद दोनों पक्ष कोतवाली पहुंच गए। वहीं पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। कोतवाली में वकीलों ने कार्रवाई की मांग को लेकर प्रार्थना पत्र दिया। जिसके बाद पुलिस ने महिला द्वारा दी गई तहरीर के आधार पर पांच नामजद एवं 10 वकीलों के खिलाफ मामला पंजीकृत किया है मिली जानकारी के अनुसार कोतवाली तालबेहट क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम निवासी श्रीमती सुनीता देवी पत्नी गुरुदयाल कुशवाहा अपने कुछ रिश्तेदारों के साथ किसी मामले को लेकर जिला न्यायालय परिसर आई हुई थी जहां पर वह है अपने किसी वकील से मिली और अपनी समस्या का निदान करवाने का प्रयास किया।

वकीलों और फरियादियों के बीच हुए घमासान

जब वह अपने वकील से बात कर ही रही थी कि वहां पर उसकी विपक्षी श्रीमती कांति पुत्री प्रागी लाल निवासी ग्राम बरौदा डांग थाना बार अपने चार अन्य परिजनों के साथ आ धमकी। महिला का आरोप है कि कोतवाली सदर क्षेत्र के कचहरी में शनिवार की शाम 4 बजे अपने बस्ते पर बैठे वकील जगदीश कुशवाहा के साथ एक महिला अपने आठ साथियों के आकर मारपीट कर दी। वकील के साथ मारपीट होती देख बचाने पहुंचे अन्य वकीलों के साथ भी अभद्रता होने लगी। जिसके बाद वकीलों व महिला पक्ष के बीच जमकर मारपीट हुई। जिसमें वकील जगदीश कुशवाहा उनका मुंशी सुरेंद्र घायल हो गए और महिला भी बेहोश होकर जमीन पर गिर पड़ी। महिला को बेहोश होकर जमीन पर गिरता देख सभी के हाथ पांव फूल गए और सभी घटनास्थल से रफूचक्कर होने लगे। घटना के बाद वकील व महिला पक्ष के लोग कोतवाली पहुंच गए। जहां पर दोनों ने एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप भी किया।बताया गया है कि पीड़ित वकील जगदीश कुशवाहा ने बताया कि वह ग्राम बरोदा निवासी एक महिला का केस लड़ रहा है। शनिवार को महिला व उसके पति के बीच समझौता भी हो गया। लेकिन महिला के पति तालबेहट कस्बा निवासी जगत कुशवाहा ने उनके मुंशी के साथ मारपीट कर दी। जगत की मां पिता भाई व अन्य आठ दस लोगों के साथ उनके वास्ते पर पहुंचे और उनकी मारपीट कर दी, जिसमें उन्हें चोटें आई हैं। जगत कुशवाहा ने बताया कि मुंशी व वकील ने उसकी पत्नी के कहने उनके व परिजनों के साथ मारपीट की हैं। घटना की सूचना मिलने पर सीओ सिटी भी कोतवाली पहुंच गए हैं। उक्त घटना के संबंध में पीड़िता श्रीमती सुनीता देवी ने सदर कोतवाली पुलिस को शिकायती पत्र देकर अपने विपक्षी श्रीमती कांति पुत्री प्रागी लाल सहित चार अन्य लोगों तथा 10 अन्य वकीलों पर एक राय होकर गाली गलौज मारपीट कर उसके साथ अश्लील हरकतें करने का आरोप लगाया तथा सरेआम मारपीट कर बेइज्जत करने और जान से मारने की धमकी देने का भी आरोप लगाया। सदर कोतवाली पुलिस ने पीड़ित महिला द्वारा दिए गए शिकायती पत्र के आधार पर सभी आरोपियों के खिलाफ 147 323 504 506 354 धाराओं में मामला पंजीकृत कर विवेचना प्रारंभ कर दी है।
विपक्षी ने भी कराया मामला दर्ज:- कचहरी परिसर में हुई मारपीट के बाद विपक्षी सुरेंद्र कुमार रजक पुत्र आसाराम निवासी ग्राम अड़वाहा मजरा प्रतापपुरा थाना जखौरा ने भी सदर कोतवाली पुलिस को शिकायती पत्र देकर अपने विपक्षी जगत कुशवाहा पुत्र गुरुदयाल सहित चार अन्य लोगों पर गाली गलौज मारपीट कर जान से मारने की धमकी एवं जाति सूचक अमर्यादित शब्दों से अपमानित करने का आरोप लगाया। जिसके बाद पुलिस ने उक्त मामले को भी 147 323 504 506 3(1) तथा एससी एसटी एक्ट में पंजीकृत कर कार्रवाई की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here