Home गुजरात कुमार कानानी का PMO को पत्र, किर्गिस्तान में फंसे लोगों की तत्काल...

कुमार कानानी का PMO को पत्र, किर्गिस्तान में फंसे लोगों की तत्काल मदद करने की मांग

0
39
कुमार

सूरत, किर्गिस्तान में मेडिकल समेत अन्य विषयों की पढ़ाई करने गए छात्र मुसीबत में हैं. पिछले एक हफ्ते से जिस तरह से वहां तूफान चल रहा है, उससे सूरत के करीब पांच सौ से हजार छात्रों की परेशानी बढ़ती जा रही है. खासकर छात्र मदद मांग रहे हैं, लेकिन उन्हें अभी तक उचित मदद नहीं मिल पाई है, जिससे परिवार में भी चिंता का माहौल है. वर्तमान में स्थानीय युवाओं और दूसरे देशों के युवाओं के बीच संघर्ष चल रहा है. एयरपोर्ट पर भी हालात बेहद खराब हैं. छात्र आना चाहते हैं लेकिन आ नहीं पा रहे. छात्रों ने भारतीय दूतावासों से लेकर विदेश मंत्री तक से मदद मांगी है. छात्रों के साथ कुछ भी अनहोनी होने की भयावह स्थिति को देखते हुए उन्हें तत्काल मदद पहुंचाना जरूरी है.

वराछा रोड के विधायक कुमार कानानी ने कहा कि किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक में भड़की हिंसा में भारतीय छात्रों के साथ सूरत और गुजरात के छात्र भी फंसे हुए हैं. जिसमें विशेषकर मेरे क्षेत्र की बेटी जो एमबीबीएस में पढ़ रही है. रिया लाठिया भी फंस गई हैं, इसलिए उनका परिवार काफी परेशान है. अपने बच्चों की बहुत चिंता कर रही है. इसलिए, ऐसे फंसे हुए छात्रों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए सरकार से परामर्श किया जाना चाहिए ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि उनके लिए उचित व्यवस्था की जाए और साथ ही उनके माता-पिता को भी उचित जानकारी दी जाए.

तनावपूर्ण स्थिति में सूरत की एक बेटी ने वीडियो संदेश के जरिए भारत और गुजरात सरकार से मदद मांगी है. सूरत की छात्रा रिया लाठिया ने किर्गिस्तान के हालात बताते हुए सरकार से छात्रों को सुरक्षित निकालने की अपील की है. रिया ने कहा, मैं मेडिकल द्वितीय वर्ष की छात्रा हूं. यहां हालात इतने खराब हैं कि हम घर वापस नहीं जा सकते. जब हम एयरपोर्ट जाते हैं तो हमें वहां से बाहर निकाल दिया जाता है. वह तीन दिनों तक एयरपोर्ट पर बैठी रहीं और फिर कहा गया कि उन्हें हॉस्टल जाना चाहिए. हम यहां नहीं रहना चाहते. हम अपने देश भारत अपने माता-पिता के पास जाना चाहते हैं. सरकार की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है. कोई हमें यहां से निकालो. हम डॉक्टरी पढ़ने आए हैं और फंस गए हैं. पिछले एक हफ्ते से यहां हालात खराब हैं. तेलंगाना के मंत्री ने भारतीय छात्रों के लिए मुफ्त उड़ान की व्यवस्था की है, आप भी हमें बाहर निकालने के लिए ऐसी कोई व्यवस्था करें. हम यह असुरक्षित हैं.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here