Home देश-दुनिया प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि सरकार का मार्गदर्शन भारत का संविधान करता

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि सरकार का मार्गदर्शन भारत का संविधान करता

106
0
Listen to this article

नई दिल्ली (एजेंसी)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि सरकार का मार्गदर्शन भारत का संविधान करता है, इसकारण सरकार धर्म, लिंग, जाति, नस्ल या भाषा के आधार पर भेदभाव नहीं करती है। साथ ही 130 करोड़ भारतीयों को सशक्त बनाने की इच्छा इसके नेतृत्व के मूल में है। केरल के पथनमथिट्टा में जोसेफ मारथोमा मेट्रोपोलिटन के 90वें जयंती समारोह को संबोधित करते हुए कहा, हमारी सरकार ने दिल्ली में आरामदायक सरकारी कार्यालयों से फैसले नहीं लिए, बल्कि जमीनी स्तर पर लोगों से प्रतिक्रिया लेने के बाद निर्णय किए हैं। मोदी ने कहा,यहीं भावना है,जिसने सुनिश्चित किया कि प्रत्येक भारतीय के पास बैंक में खाता हो। कोरोना के खिलाफ लड़ाई का संदर्भ देकर मोदी ने कहा कि राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन, लोगों द्वारा लड़ी गई लड़ाई और सरकार द्वारा शुरू की गई कई पहलों की वजह से भारत कई राष्ट्रों के मुकाबले बेहतर स्थिति में है।उन्होंने कहा कि भारत में कोरोना संक्रमण से ठीक होने की दर बढ़ रही है। लोगों द्वारा लड़ी गई लड़ाई ने अब तक अच्छे परिणाम दिए हैं, लेकिन आगाह किया कि लोगों को खतरे के प्रति लापरवाह नहीं होना चाहिए। मोदी ने कहा, असल में, हमें अब और सतर्क होने की जरूरत है। मास्क पहनना, सामाजिक दूरी का पालन करना और भीड़-भाड़ वाली जगह जाने से बचना अब भी जरूरी बना हुआ है। प्रधानमंत्री ने कहा कि मारथोमा गिरजाघर प्रभु ईसा मसीह के दूत, संत थॉमस के नेक विचारों से करीब से जुड़ा है। इसी विनम्रता की भावना के साथ मारथोमा गिरजाघर ने भारतीयों के जीवन में सकारात्मक बदलाव लाने की दिशा में काम किया है। उन्होंने शिक्षा एवं स्वास्थ्य क्षेत्रों में बहुत कुछ किया है। मोदी ने कहा कि जोसेफ मारथोमा ने अपना जीवन समाज एवं राष्ट्र की बेहतरी के लिए समर्पित किया है। उन्होंने गरीबी उन्मूलन एवं महिला मुद्दों को लेकर खास तौर पर काम किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here